दांतों की सड़न से छुटकारा पाने के लिए रामबाण इलाज

आज हम बात करेंगे की दांत के कीड़े का इलाज आप की तरह से कर सकते है और इसके आपको सभी प्रकार की जानकारी दी जाएगी जिससे आप का इलाज कर सकते है तो आइये शुरू करते हैं।

Tooth worms
Tooth worms

दांत के कीड़े

दांतों की सड़न एक आम समस्या है। रोजाना सुबह-शाम ब्रश न करने से दांतों में कीड़े लग जाते हैं। दांत में कीड़ा लगने के बाद आपको कभी भी अधिक दर्द हो सकता है। इतना ही नहीं कई बार ठंडा और गर्म खाने में भी काफी दिक्कत होती है।

दांतों में कीड़ों से छुटकारा पाना बहुत महंगा और दर्दनाक होता है। ऐसे में आप चाहें तो इस घरेलू नुस्खे को अपना सकते हैं। इसका फायदा आपको कुछ ही देर में मिलेगा।

आमतौर पर हर घर में दांत दर्द या कृमि संक्रमण के लिए गुनगुने नमक के पानी का इस्तेमाल किया जाता है। यह बैक्टीरिया को मुंह से दूर रखता है और कैविटी दांतों से चिपचिपाहट को दूर करता है। यह गुहा द्वारा निर्मित अम्लीय पीएच को भी संतुलित करता है। एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक या सेंधा नमक मिलाएं।

दांत खराब हो जाए तो

दांत में भर जाता है फ्लोराइड यौगिक – क्षय के कारण खोए हुए दांत का आधुनिक उपचार ‘कैरीज़ अरेस्ट तकनीक’ है। जीवन शैली में संशोधन – ऐसे बच्चे जिनकी उम्र बहुत कम है, किसी मानसिक रोग से पीड़ित हैं। सोने से पहले ब्रश करना- रात को सोने से पहले ब्रश करना जरूरी है।

जुकाम की दवाई और घरलू उपचार

दांतों के कीड़ों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

कीड़ों के प्रकोप के कारण दांत पीले हो जाते हैं और उनमें बदबू आने लगती है। ऐसे में आपको तुरंत डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए। हालांकि अगर दांतों की स्थिति खराब नहीं हुई है तो आप घरेलू नुस्खों की मदद से भी कैविटी से छुटकारा पा सकते हैं।

हींग के पानी से कुल्ला करने से भी दांत का काड़ी निकालने में मदद मिलेगी। नीम की दातून करने से कैविटी की समस्या से छुटकारा मिलेगा। इसके साथ ही दांतों में सफेदी आएगी।

लहसुन में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। इसका पेस्ट लगाने से कीड़े की समस्या से निजात मिल जाएगा। जायफल के तेल का इस्तेमाल कर इस समस्या से निजात पा सकते है।

इसके लिए एक कॉटन बॉल में थोड़ा सा जायफल ऑयल डाले और इसे कीड़े वाले दांत या मसूड़ो में रखें। कम से कम 5 मिनट रखा रहने दें। इसमें आपको झनझनाहट होगी। इसे होने दें। 5 मिनट बाद कॉटन को हटा दें।

दांत में कीड़ा लगने पर लौंग इसके लिए अच्छी औषधि है। इसके लिए 2-3 लौंग पीसकर कीड़े वाली जगह पर लगा लें। इसके अलावा लौंग का तेल भी काफी फायदेमंद होगा। एलोवेरा में एंटी ऑक्सीडेंट,एंटी बैक्टीरियल, एंटीसेप्टटिक गुण पाए जाते हैं।

आसानी से एलोवेरा की समस्यचा से छुटकारा दिला सकते हैं। इसके लिए शुद्ध एलोवेरा जेल की थोड़ी मात्रा लेकर फ्रिज में रख दें। इसके बाद दांत के ऊपर लगा लें। करीब 5-10 मिनट लगा रहने के बाद कुल्ला कर लें।

हल्दी : औषधीय गुणों से भरपूर हल्दी में एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। यह मसूड़ों की सूजन को दूर करने में मदद करता है। इसके लिए हल्दी में सरसों का तेल मिलाएं। फिर इसे मसूड़ों पर लगाएं और हल्के हाथों से मसाज करें।

नारियल तेल : इसके लिए नारियल के तेल को कुछ देर मुंह में रखें। करीब 10 मिनट तक मुंह में लगाने के बाद इसे धो लें। उसके बाद ब्रश।

आंवला : एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर आंवला इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। यह सांसों की दुर्गंध से छुटकारा पाने में भी कारगर है। इसके लिए आंवले का पेस्ट बनाकर अपने दांतों पर लगाएं। बाद में साफ पानी से धो लें।

पेट दर्द की Best दवाएं

दांत के दर्द से हैं परेशान, तो आपकी रसोई में है इसका इलाज

  • लहसुन में होने वाले एन्टीबैक्टीरियल गुण दांत दर्द में सहायक होता हैं
  • दर्द वाले हिस्से पर लौंग का तेल लगाना दर्द में फायदेमंद होता हैं
  • हर तीन मिनट पर एक स्लाइस प्याज की खाने से मुंह में मौजूद कीटाणु मर जाते हैं

दांत का कीड़ा कैसा दिखता है?

रुई को जायफल के तेल में भिगोकर 5 से 7 मिनट कीड़े वाले दांत पर रखे और फिर गर्म पानी से कुल्ला कर लें. सरसों के तेल और नमक को मिलाकर ब्रश करने से दांत में कीड़ा नहीं लगता है. साथ ही इससे दांत भी चमकदार बनते हैं. हींग के पानी से कुल्ला करने से भी दांत का कीड़ा निकालने में आसानी होती है

दांतों में कीड़े लगने के कारण

  • दांतो की साफ सफाई अच्छे से ना करने से जैसे कि ब्रश ना करने से
  • खाना खाने के बाद ठीक ढंग से कुल्ला ना करने से
  • ज्यादा मीठा खाने से
  • रात को सोने से पहले दांतो की सफाई न करने के कारण।
  • पान, मसाला, तंबाकू का सेवन करने से दांतों में कीड़ें लग जीते है।
  • रात को मीठा खाने के बाद ठीक ढंग से कुल्ला ना करने से
  • तेज मसालेदार और फ़ास्ट फ़ूड का अधिक सेवन करने से
  • ज्यादा गर्म चीजे खाने से
  • ठीक ढंगे से देखभाल न करने के कारण
  • अधिक मीठा खाने से दांतो में चिपक जाता है। जिसके कारण बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाता है।

Pair dard ki tablet – पैर दर्द की बेस्ट दवाई कौनसी है?

अंतिम शब्द :- आज हमने बतया की आप दांत के कीड़े का इलाज की किस प्रकार कर सकते है आशा है की हमरे द्वारा दी गई जानकरी से आपको दांत के कीड़े का इलाज करने में मदद मिली होगी। धन्यवाद।

x