आइटोन आई ड्रॉप की पूरी जानकारी – फायदे और नुकसान

Itone Eye Drops का उपयोग क्या है, यहाँ आप आइटोन आई ड्रॉप के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप आइटोन आई ड्रॉप के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Itone Eye Drops

जानिए आइटोन आई ड्रॉप की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां-

दवा के घटकItone Eye Drop
निर्माताDeys Medical
विक्रेताApollo Pharmacy Limited

आइटोन आई ड्रॉप

आइटोन आई ड्रॉप आंखों की सभी समस्याओं के लिए एक आयुर्वेदिक हर्बल उपचार है। यह बूंद आंखों की खोई चमक वापस लाती है और नजर तेज करती है।

अगर उड़ते हुए धूल के कण आंखों में चले जाएं, जिससे आंखों में संक्रमण हो जाए तो ऐसी स्थिति में भी इस बूंद का इस्तेमाल आंखों को साफ करने के लिए किया जा सकता है। यह बूंद आंखों की अच्छी सेहत के लिए वरदान साबित हो सकती है, जो आंखों को कोई रोग नहीं होने देती।

अगर आंखों में कोई रोग हो तो उसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि बाद में यह मोतियाबिंद या ग्लूकोमा जैसी बड़ी स्थिति में बदल सकता है। अपनी आंखों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए डॉक्टर द्वारा इस ड्रॉप को चुनना ज्यादा उचित माना जाता है।

स्वस्थ आहार, प्राणायाम, योग और चश्मे को दैनिक जीवन का हिस्सा बनाने के साथ-साथ इस बूंद के नियमित उपयोग से आंखों की उम्र लंबी हो सकती है।

आइटोन आई ड्रॉप आंखों से पानी आना, लाल आंखें, थकी हुई आंखें, नेत्रश्लेष्मलाशोथ, सूखी आंखें, धुंधली दृष्टि, आंखों में खिंचाव, खुजली, जलन, पलकें झपकना, अत्यधिक बलगम की समस्या आदि जैसी सभी आंखों की समस्याओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

आइटोन आई ड्रॉप के उपयोग

  • सूखी आंखों के इलाज के लिए आइटोन आई ड्रॉप का उपयोग किया जाता है।
  • इसका उपयोग आंखों की विभिन्न समस्याओं जैसे खुजली, जलन, सूजन, लालिमा, पानी और आंखों में जलन के इलाज के लिए किया जा सकता है।
  • एलर्जी, धूल, हवा और धुएं के कारण होने वाली लालिमा और दर्द से राहत दिलाता है।
  • पलकों की सूजन को कम करने में मदद करता है।
  • एलर्जी नेत्रश्लेष्मलाशोथ के उपचार में इटोन आई ड्रॉप्स बहुत उपयोगी होते हैं जिन्हें हे फीवर या मौसमी एलर्जी नेत्रश्लेष्मलाशोथ (एसएसी) के रूप में भी जाना जाता है।

आइटोन आई ड्रॉप के लाभ

  • आइटोन का उपयोग आँखों में खुजली, लालिमा और आँखों से पानी आने से राहत पाने के लिए किया जाता है।
  • आइटोन आई ड्रॉप आपकी आंखों को नुकसान नहीं पहुंचाएगा और ताजगी का एहसास दे सकता है।
  • ग्लूकोमा और प्रेसबायोपिया से पीड़ित रोगियों के लिए आइटोन आई ड्रॉप की सिफारिश की जाती है।
  • यह नेत्रश्लेष्मलाशोथ, सूखी आंखें आदि जैसी सामान्य स्थितियों से लड़ने में मदद करता है।
  • विभिन्न प्रकार की दृष्टि समस्याओं से पीड़ित लोगों के इलाज के लिए आइटोन का एक उत्कृष्ट ट्रैक रिकॉर्ड है।
  • 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए भी इसकी सिफारिश की जाती है।
  • आइटोन आई ड्रॉप में अन्य घटक एलर्जी या जलन द्वारा सक्रिय होने पर अधिक हिस्टामाइन को मुक्त करने से रोककर आंखों में मस्तूल कोशिकाओं को स्थिर करने में मदद करता है।

आइटोन आई ड्रॉप के साइड इफेक्ट

यह आंखों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है। इससे आंखों पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। इसकी बूंदों को आंख के नाक के हिस्से में डालें, लेकिन कभी भी इस बूंद की बहुत सारी बूंदों का एक साथ उपयोग न करें क्योंकि इससे आपको यह दवा आपके नाक या गले में महसूस हो सकती है।

यदि आप इस दवा के किसी अन्य दुष्प्रभाव का अनुभव करते हैं, तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श करने के लिए स्वतंत्र हैं।

आइटोन आई ड्रॉप की खुराक

  • आइटोन आई ड्रॉप का उपयोग करने से पहले आपको अपने हाथ अवश्य धोने चाहिए। लक्षणों के प्रकार या गंभीरता के अनुसार इस समय उपयोग की जाने वाली दवा की सुरक्षित खुराक के लिए डॉक्टर का अनुसरण करें।
  • बच्चों में इसका प्रयोग बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह से ही करें। इस बात का ध्यान रखें कि इस बूंद की बोतल से बूंदे आंखों में डालते समय बोतल का नुकीला कोना आंखों को नहीं छूना चाहिए।
  • आइटोन आई ड्रॉप को एक महीने के अंदर पूरी तरह से खत्म कर दें। इसे इस्तेमाल करने के बाद इसके ऊपर कैप को अच्छे से लगा लें।
  • अपनी आंखों में बूंद डालने के बाद 10 सेकंड के लिए अपनी आंखें बंद करें, फिर अपनी आंखें खोलें और तब तक झपकाएं जब तक कि आप वस्तुओं को स्पष्ट रूप से न देख सकें।
  • इस दवा के नतीजे का आकलन करने में आपकी मदद करने के लिए Itone Eye Drops का नियमित रिकॉर्ड रखें।
  • सुविधानुसार इसकी मात्रा बदलने से बचें। इसके अत्यधिक या दुरूपयोग से हमेशा बचें।
  • यदि एक खुराक छूट जाती है, तो इटोन आई ड्रॉप्स का उपयोग यथाशीघ्र करें।

आइटोन आई ड्रॉप कैसे काम करती है ?

आइटोन आई ड्रॉप में सक्रिय तत्व आंख की रक्त वाहिकाओं में हिस्टामाइन रिसेप्टर्स को अवरुद्ध करके काम करते हैं। यह कोशिकाओं द्वारा जारी हिस्टामाइन की मात्रा को कम करता है जब आप ऐसे पदार्थों के संपर्क में आते हैं जो पराग और पालतू जानवरों की रूसी जैसी एलर्जी का कारण बनते हैं।

आइटोन आई ड्रॉप जारी हिस्टामाइन की मात्रा को कम करके खुजली, आंखों से पानी आना और फटने जैसी एलर्जी से होने वाले लालिमा के लक्षणों को कम करने में मदद करती हैं।

आइटोन आई ड्रॉप में अन्य घटक एलर्जी या जलन द्वारा सक्रिय होने पर अधिक हिस्टामाइन को मुक्त करने से रोककर आंखों में मस्तूल कोशिकाओं को स्थिर करने में मदद करता है।

आइटोन आई ड्रॉप की कीमत

₹57.0 / एक पैकेट में 10 ml ड्रौप।

अन्य दवाइयों के बारे में जानकारी

Wikoryl TabletSpasmonil Tablet
Folinext TabletPudin Hara Tablet
Omnacortil TabletAlprax Tablet
Rifagut 400 TabletClavam 625 Tablet
Dysmen TabletLaveta M Tablet

हम उम्मीद करते है की आपको आइटोन आई ड्रॉप के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

आइटोन के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको आइटोन आई ड्रॉप के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।