हेमपुष्पा सिरप की सम्पूर्ण जानकारी : उपयोग, फायदे-नुकसान

Hempushpa Syrup का उपयोग क्या है, यहाँ आप हेमपुष्पा सिरप के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप हेमपुष्पा सिरप के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Hempushpa Syrup Uses in Hindi

जानिए हेमपुष्पा सिरप की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां-

दवा के घटकHempushpa Syrup
निर्माताRajvaidya
क़ीमत ₹541.0 / एक बोतल में 450 ml सिरप

हेमपुष्पा सिरप

हेमपुष्पा सिरप एक अत्याधुनिक आयुर्वेदिक औषधि है, जो केवल महिलाओं के लिए बनाई गई है। हेमपुष्पा मासिक धर्म से संबंधित सभी समस्याओं जैसे रक्त की अनियमितता, असमय, बेचैनी, चिड़चिड़ापन, शारीरिक कमजोरी, पेट में सुई चुभने के साथ दर्द, थकान, वजन कम होना आदि सभी समस्याओं का समाधान करती है।

यह महिलाओं को स्वस्थ बनाकर, रक्त शुद्ध करके और सुंदरता को बढ़ाकर फुर्ती और ताजगी प्रदान करने में सहायक है। वहीं इन मुश्किल दिनों में महिलाओं में हार्मोनल असंतुलन होता है, जिससे मुंह पर मुंहासे और बाल उग आते हैं, यह इन सभी समस्याओं को दूर करने में भी कारगर है।

हेमपुष्पा सिरप की संरचना

लोधरा, मंजिष्ठा, अनंत जड़, बाला, गोखरू, शंखपुष्पी, मूसली, पुनर्नवा, अश्वगंधा, पलायन, धैफुल बरबेरी, गंभीर, नागरमोथा, एस्परैगस

हेमपुष्पा सिरप के उपयोग और फायदे

  • इसका उपयोग बढ़े हुए प्रोस्टेट, मूत्र पथ के संक्रमण, गुर्दे की पथरी आदि के उपचार में किया जाता है।
  • यह प्रोस्टेटाइटिस के लक्षणों को कम करने में भी मदद करता है जैसे पेशाब के दौरान जलन, पेशाब में दर्द और शरीर में रक्त का प्रवाह कम होना।
  • सिरप मूत्र पथ के संक्रमण, गुर्दे की पथरी और अन्य सूजन संबंधी मूत्र विकारों के उपचार में उपयोगी है।
  • सिरप में मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस हाउट।, बर्बेरिस एरिस्टाटा डीसी।, मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस हाउट।, बर्बेरिस एरिस्टाटा डीसी।, मिरिस्टिका फ्रेग्रेंस हाउट जैसे सक्रिय तत्व होते हैं।

हेमपुष्पा सिरप के साइड इफेक्ट

यह सभी प्राकृतिक अवयवों से बना है और इस सिरप के उपयोग के कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं। हेमपुष्पा का उपयोग करते समय साइड इफेक्ट हमेशा नहीं होते हैं लेकिन यदि वे होते हैं तो वे मामूली और अस्थायी होने की संभावना है।

कुछ साइड इफेक्ट्स जिनमें चिकित्सकीय ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है उनमें शामिल हैं:

  • पेट की ख़राबी,
  • चक्कर आना,
  • उनींदापन,
  • धड़कन,
  • मतली,
  • उल्टी
  • रक्तचाप

हेमपुष्पा सिरप की खुराक

इसकी खुराक काफी हद तक उम्र और अवस्था पर निर्भर करती है। इसलिए स्थिति के अनुसार किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह ली जा सकती है। हेमपुष्पा की एक सामान्य वृद्ध महिला के लिए सुरक्षित खुराक प्रति दिन 14 मिली है।

इससे अधिक खुराक के लिए अपने मासिक धर्म चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। इस दवा को दिन में दो बार सुबह और शाम 7-7 मिलीलीटर भोजन के बाद लेना चाहिए।

युवा लड़कियों में इसकी खुराक कम की जा सकती है, क्योंकि कम उम्र में उच्च खुराक जीवन में बाद में मां बनने में समस्या पैदा कर सकती है। इसलिए एक्सपर्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

हेमपुष्पा सिरप कैसे काम करती है?

हेमपुष्पा सिरप एक हर्बल उपचार है जो रक्तचाप के स्तर को नियंत्रण में रखने के साथ-साथ नियमित मल त्याग के साथ-साथ पाचन तंत्र को बनाए रखने में मदद करता है।

यह लीवर, गॉलब्लैडर और अग्न्याशय को भी सपोर्ट करता है। हेमपुष्पा जड़ी-बूटियों से बनी एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक औषधि है जो कई रोगों को ठीक करने में सहायक है।

हेमपुष्पा सिरप की क़ीमत

इस दवा की कीमत कई कारकों पर निर्भर करती है और इस कारण दवा की कीमत के बारे में एक भी आंकड़ा देना मुश्किल है। हेमपुष्पा सिरप की क़ीमत- रु- 250 / 400ml है।

अन्य सिरप के बारे में जानकारी
Alex SyrupDrakshasava Syrup
Ashokarishta SyrupCremaffin Syrup
Mactotal SyrupAscoril LS Syrup
Lohasava SyrupDexorange Syrup
Bonnisan SyrupCitralka Syrup

हम उम्मीद करते है की आपको हेमपुष्पा सिरप के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

हेमपुष्पा के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको हेमपुष्पा सिरप के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

x