इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट क्या है, इस्तेमाल, साइड इफ़ेक्ट

Ecosprin 75 Tablet का उपयोग क्या है, यहाँ आप इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Ecosprin 75 Tablet Uses

जानिए इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां-

दवा के घटकAspirin(ASA) (75 mg)
निर्माताUsv Ltd
क़ीमत ₹4.6 / एक पत्ते में 14 टैबलेट

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट एलोपैथिक दवा का एक गैर-स्टेरायडल विरोधी भड़काऊ दवाएं (एनएसएआईडी) वर्ग है। इसे इकोस्प्रिन के नाम से भी जाना जाता है।

यह एक एंटी-प्लेटलेट दवा है जो रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के को रोकने में मदद करती है और दर्द और सूजन को कम करती है। यह किसी भी दवा की दुकान पर आसानी से मिल जाता है।

इकोस्प्रिन में एस्पिरिन और सैलिसिलिक एसिड होता है। यह दवा रक्त को पतला करने वाली है और रक्त धमनियों में रक्त के थक्कों को बनने से रोकती है। इसे अन्य एंटी-प्लेटलेट दवाओं के साथ भी लिया जा सकता है।

इन सबके अलावा कई अन्य समस्याओं और बीमारियों के लिए भी इस दवा का उपयोग किया जाता है। जिसमें सिरदर्द, दांत दर्द, पीठ दर्द, नसों में दर्द, माइग्रेन, दिल से संबंधित बीमारियां और गर्भावस्था के दौरान कुछ लक्षण शामिल हैं।

इस दवा के फायदे और नुकसान दोनों हैं। इस ब्लॉग में हम गर्भावस्था के दौरान इकोस्प्रिन के फायदे, नुकसान और उपयोग के बारे में विस्तार से जानेंगे।

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के उपयोग और फायदे

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट का उपयोग कई समस्याओं और समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। नीचे हम इसके सेवन से होने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं-

  • दर्द
  • सूजन
  • आघात
  • बुखार
  • गाउट
  • जोड़ों का दर्द
  • मासिक दर्द
  • पेरिकार्डिटिस
  • रूमेटिक फीवर
  • कावासाकी रोग
  • परावर्तक इस्किमिया
  • दिल के रोग
  • एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम
  • हृद्पेशीय रोधगलन
  • अतिट्राइग्लिसराइडिमिया
  • पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • टाइप 3 हाइपरलिपोप्रोटीनेमिया
  • समयुग्मजी पारिवारिक हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया

गर्भावस्था के दौरान इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट गर्भावस्था के दौरान उत्पन्न होने वाली कई समस्याओं और खतरों को दूर करती है। यही कारण है कि डॉक्टर इसका सेवन करने की सलाह देते हैं। गर्भावस्था में इकोस्प्रिन टैबलेट गर्भावस्था में डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवा का उपयोग खतरनाक साबित हो सकता है।

गर्भावस्था एक बहुत ही नाजुक क्षण होता है जिसमें गलती या उपेक्षा के लिए कोई जगह नहीं होती है। जहां एक तरह से यह दवा फायदे पहुंचा सकती है, वहीं गलत तरीके से इस्तेमाल करने पर आपको इसके साइड इफेक्ट का भी सामना करना पड़ सकता है।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में प्रीक्लेम्पसिया नामक स्थिति उत्पन्न हो जाती है। इससे हाई ब्लड प्रेशर और पेशाब में प्रोटीन की अधिक मात्रा जैसी समस्याएं सामने आती हैं, जिसका भ्रूण पर बुरा असर पड़ता है।

विशेषज्ञों का मानना है कि जब गर्भवती महिला को मधुमेह, उच्च रक्तचाप, प्रीक्लेम्पसिया हो या उसके गर्भ में एक से अधिक बच्चे हों तो इस स्थिति में उसके लिए इकोस्प्रिन काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के नुकसान

इस दवा के कई फायदे हैं लेकिन साथ ही इसके कुछ नुकसान भी हैं। इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और उनकी राय लेनी चाहिए।

गर्भावस्था आपके शरीर की प्रतिक्रिया और इसका अधिक मात्रा में सेवन आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। हम बता रहे हैं इसके कुछ खास और संभावित नुकसान यानी साइड इफेक्ट के बारे में।

  • दस्त
  • कब्ज
  • सिरदर्द
  • दुर्बलता
  • पेटदर्द
  • पेट का बढ़ना
  • उबकाई को
  • सांस फूलना
  • जोड़ों का दर्द
  • मतली
  • चिड़चिड़ापन
  • पेट में नासूर
  • चक्कर आना
  • पेट की ख़राबी
  • मांसपेशियों में दर्द
  • खट्टी डकारें
  • अस्थमा की शिकायत
  • त्वचा के लाल चकत्ते
  • अतिसंवेदनशीलता
  • खून बहने की अव्यवस्था
  • पेशाब में खून
  • गैस जलना
  • बीमार महसूस करना
  • मुंह या चेहरे की सूजन
  • त्वचा के लाल चकत्ते
  • रक्त में प्लेटलेट्स की कमी
  • आंखों या त्वचा का पीला पड़ना

यदि आप उपर्युक्त लक्षणों में से किसी का अनुभव करते हैं, तो आपको तुरंत इकोस्प्रिन लेना बंद कर देना चाहिए। फिर तुरंत डॉक्टर से मिलें और दवा के साइड इफेक्ट के बारे में बताएं।

इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट की खुराक

इकोस्प्रिन टैबलेट को उसी समय और ठीक उसी मात्रा में लिया जाना चाहिए जैसा आपके डॉक्टर ने सलाह दी है। इस दवा को कुचलकर, तोड़ा या खाली पेट नहीं लेना चाहिए बल्कि भोजन के बाद पानी के साथ गोली के रूप में लेना चाहिए।

गर्भावस्था में इसकी खुराक में कोई भी बदलाव करने से पहले डॉक्टर की राय अवश्य लेनी चाहिए। इस दवा को अपने मन मुताबिक लेने से आपको परेशानी हो सकती है। इस दवा को हमेशा तेज धूप, तेज गर्मी या सूखी जगह से दूर रखना चाहिए।

यदि आप एक खुराक लेना भूल जाते हैं, तो छूटी हुई खुराक को अगली खुराक के समय नहीं लेना चाहिए। ऐसा करने से दवा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है और ओवरडोज भी हो सकता है।

कई बार डॉक्टर मरीज की बीमारी, बीमारी की स्थिति, उसकी उम्र और उसकी शारीरिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए इस दवा की खुराक बदल देते हैं। अधिक भ्रम या समस्या हो तो डॉक्टर से बात करें।

हम उम्मीद करते है की आपको इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

इकोस्प्रिन टैबलेट के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको इकोस्प्रिन 75 एमजी टैबलेट के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

x