बिहार की जनसंख्या कितनी है और जनसंख्या घनत्व ?

Bihar ki jansankhya kitni hai – दोस्तों, जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से बिहार राज्य का देश में प्रथम स्थान है। बिहार का कुल जनसंख्या घनत्व 1106 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी है। जो देश के कुल जनसंख्या घनत्व से 728 अधिक है क्योंकि भारत का कुल जनसंख्या घनत्व मात्र 382 है। तो आओ बात करें की बिहार की कुल जनसंख्या कितनी है(bihar ki jansankhya kitni hai)-

Bihar Ki Jansankhya Kitni Hai

Bihar ki jansankhya kitni hai ?

Bihar ki jansankhya kitni hai– भारत में हर 9 पुरुषों में से एक बिहार राज्य से है। जनसंख्या घनत्व के आधार पर बिहार भारत के सभी राज्यों में प्रथम आता है। जनसंख्या के आधार पर तीसरा स्थान पर आता है। बिहार की कुल जनसंख्या कितनी है? इस प्रश्न का उत्तर है-

2011 की जनगणना के अनुसार बिहार की जनसंख्या 103,804,637 है। जिसमें पुरुषों की संख्या 54,185,347 और महिलाओं की संख्या 49,619,290 है। 1901 से 2011 तक बिहार की जनसंख्या कितनी थी?

बिहार की जनसंख्या – 1901 से 2011 तक

10 साल की अवधिबिहार की जनसंख्या
1901 – 19112,8314281
1911 -19212,8126675
1921 – 19313,1347108
1931 – 19413,5170840
1941 – 19513,8782271
1951 – 19614,6447457
1961 – 19715,6353369
1971 – 19816,9914734
1981 – 19918,6374465
1991 – 20018,2998509
2001 – 201110,3804637

अब आप सोच रहे होंगे कि यह जनसंख्या 2011 की बिहार की जनगणना के अनुसार है। 2022 में बिहार की जनसंख्या क्या होगी इसका अंदाजा लगाने के लिए आपको जनसंख्या वृद्धि दर का औसत निकालना होगा। लेकिन इंडिया ऑनलाइन पेज डॉट कॉम के मुताबिक पिछले 3 सालों में बिहार की जनसंख्या इतनी ही रही है-

साल(वर्ष)बिहार की जनसंख्या
2019124,233,985
2018121,754,329
2017119,237,851
  • बिहार की ग्रामीण जनसंख्या
    2011 की जनगणना के अनुसार बिहार की कुल जनसंख्या का 88.77% ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करता है। बिहार में सबसे अधिक ग्रामीण आबादी वाला जिला समस्तीपुर(96.56%) है और सबसे कम ग्रामीण आबादी वाला जिला पटना(56.93%) है।
  • बिहार की शहरी जनसंख्या
    2011 की जनगणना के अनुसार बिहार की कुल जनसंख्या का 11.29% शहरी क्षेत्रों में निवास करता है।

बिहार की जनसंख्या वृद्धि दर – 1901 से 2011 तक

10 साल की अवधिवृद्धि दर
1901 – 191100%
1911 -1921-0.66%
1921 – 193111.87%
1931 – 194110.87%
1941 – 195110.27%
1951 – 196119.77%
1961 – 197121.33%
1971 – 198124.07%
1981 – 199123.54%
1991 – 200128.62%
2001 – 201125.40%

2022 में बिहार की जनसंख्या

Bihar ki jansankhya kitni hai– 2001 से 2011 के दशक में बिहार की जनसंख्या वृद्धि दर 25.40% थी। 2011 से 2018 के बीच बिहार की जनसंख्या में पिछले औसत से 22 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है। यानी आप कह सकते हैं कि 2022 में बिहार की आबादी 14 करोड़ का आंकड़ा पार कर चुकी होगी।

बिहार के जिलों की जनसंख्या

क्र. संख्याजिले का नामजनसँख्या
1पटना58 लाख 38 हजार 465
2पूर्वी चंपारण50 लाख 99 हजार 371
3मुजफ्फरपुर48 लाख 1 हजार 62
4मधुबनी44 लाख 87 हजार 379
5गया43 लाख 91 हजार 418
6समस्तीपुर42 लाख 61 हजार 566
7सारण39 लाख 51 हजार 862
8दरभंगा40 लाख 37 हजार 385
9पश्चिमी चंपारण40 लाख 35 हजार 42
10वैशाली34 लाख 95 हजार 21
11सीतामढ़ी34 लाख 23 हजार 574
12सिवान33 लाख 30 हजार 464
13पूर्णिया32 लाख 64 हजार 619
14कटिहार30 लाख 71 हजार 29
15भागलपुर30 लाख 37 हजार 766
16बेगूसराय29 लाख 70 हजार 541
17रोहतास29 लाख 59 हजार 918
18नालंदा28 लाख 77 हजार 653
19अररिया28 लाख 11 हजार 569
20भोजपुर27 लाख 28 हजार 407
21गोपालगंज25 लाख 62 हजार 12
22औरंगाबाद25 लाख 40 हजार 73
23सुपौल22 लाख 29 हजार 76
24नवादा22 लाख 19 हजार 146
25बांका20 लाख 34 हजार 763
26मधेपुरा20 लाख 1 हजार 762
27सहरसा19 लाख 661
28जमुई17 लाख 60 हजार 405
29बक्सर17 लाख 6 हजार 352
30किशनगंज16 लाख 90 हजार 400
31खगड़िया16 लाख 66 हजार 886
32मुंगेर13 लाख 67 हजार 765
33जहानाबाद11 लाख 25 हजार 313
34कैमूर16 लाख 26 हजार 384
35लखीसराय10 लाख 912
36अरवल7 लाख 843
37शिवहर6 लाख 56 हजार 246
38शेखपुरा6 लाख 36 हजार 342

Biography of Ganganagar in Hindi

बिहार का जनसंख्या घनत्व

बिहार का जनसंख्या घनत्व कितना है– अगर बात करें की बिहार का जनसंख्या घनत्व कितना है तो आपको बता दे की बिहार का जनसंख्या घनत्व 1106 व्यक्ति प्रति किमी पहुंच गया है, शिवहर जिले में यह 1880 के आंकड़े तक पहुंच गया है। राज्य में जनसंख्या घनत्व, जो 2001 में 881 था, दस साल बाद यानी 2011 में बढ़कर 1106 हो गया है। इस मामले में, बिहार देश का एकमात्र राज्य है जहां जनसंख्या घनत्व इतना अधिक है।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस

बिहार में धार्मिक जनसंख्या की संरचना

भारत के महापंजीयक और जनगणना आयुक्त ने वर्ष 2011 में अगस्त 2015 में धार्मिक जनगणना के आंकड़े प्रकाशित किए-

क्र. संख्याधर्मप्रतिशत(%)
1हिंदू82.69%
2मुस्लिम16.87%
3ईसाई0.12%
4सिख0.2%
5बौद्ध0.02%
6जैन0.02%
7अन्य0.01%
8गैर-धार्मिक0.24%

जाट समाज की पूरी जानकारी

बिहार की जनसंख्या वृद्धि का मुख्य कारण

किसी राज्य की जनसंख्या वृद्धि इन तीन मुख्य प्रक्रियाओं पर निर्भर करती है: जन्म दर, मृत्यु दर और प्रवास।

  • जन्म दर
    एक वर्ष में प्रति हजार व्यक्तियों पर जीवित जन्मों की संख्या को जंतर कहा जाता है। यह जनसंख्या वृद्धि का एक प्रमुख घटक है, क्योंकि बिहार राज्य में सात जन्म दर मृत्यु दर से अधिक है।
  • मृत्यु दर
    एक वर्ष में प्रति हजार लोगों पर होने वाली मौतों की संख्या को मृत्यु दर कहा जाता है। मृत्यु दर में तेजी से गिरावट बिहार की जनसंख्या में वृद्धि दर का मुख्य कारण है।
  • प्रवास
    लोगों का एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में जाना प्रवास कहलाता है। जनसंख्या वृद्धि का तीसरा घटक है। यह प्रवास देश के भीतर या देश के बाहर भी हो सकता है।

लोक देवता तेजाजी का इतिहास

बिहार का लिंगानुपात

किसी देश या राज्य के प्रति हजार पुरुषों पर महिलाओं की संख्या के अनुपात को लिंगानुपात कहा जाता है। 2011 की जनगणना के अनुसार बिहार का लिंगानुपात 918 है। बिहार में सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला गोपालगंज (1121) है, जबकि सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला मुंगेर (876) है।

महाराजा सूरजमल जीवनी

निष्कर्ष- दोस्तों, इस पोस्ट में हमने बिहार की जनसंख्या(Bihar ki jansankhya kitni hai), बिहार का जनसंख्या घनत्व, बिहार में धार्मिक जनसंख्या की संरचना, बिहार की जनसंख्या वृद्धि का मुख्य कारण और बिहार का लिंगानुपात आदि के बारे में जानकारी प्रदान की है।

अगर बिहार की जनसंख्या कितनी है? Bihar ki jansankhya kitni hai? इस सवाल का आपको जवाब मिल गया है तो पोस्ट को शेयर करें और कमेंट करें, धन्यवाद।