Arogyavardhini Vati: आरोग्यवर्धिनी वटी सेवन विधि

Arogyavardhini Vati का उपयोग क्या है, यहाँ आप आरोग्यवर्धिनी वटी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख में आप आरोग्यवर्धिनी वटी के बारे में हिंदी में जानकारी मिलेंगी।

Arogyavardhini Vati

जानिए आरोग्यवर्धिनी वटी की जानकारी, लाभ, फायदे, उपयोग, प्रयोग, कीमत, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, डोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां-

दवा के घटकPatanjali Divya Arogyavardhini Vati
निर्माताPatanjali Ayurved Limited
क़ीमत₹89.0 / एक बोतल में 40 gm बटी (गोलियां)

Arogyavardhini Vati

पतंजलि आरोग्यवर्धिनी वटी एक आयुर्वेदिक औषधि है। जिसका निर्माण हमारे पूर्वजों की ग्रंथि के आधार पर हुआ है। पतंजलि और बैद्यनाथ के अलावा, आरोग्यवर्धिनी वटी का निर्माण कई अन्य कंपनियों द्वारा किया जाता है।

आरोग्यवर्धिनी वटी का उपयोग कई रोगों में किया जाता है। इसका सेवन हृदय रोग, पीलिया, कुष्ठ, सूजन, अपच, बुखार, रक्ताल्पता और पाचन तंत्र से संबंधित रोगों आदि में किया जाता है।

इसके नाम की बात करें तो इसके नाम का भी एक अर्थ होता है, इसका नाम संस्कृत के शब्द पर आधारित है इसलिए बहुत से लोगों को इसके नाम का अर्थ भी नहीं पता होगा। इसके नाम का अर्थ है, एक औषधि जो हमारे शरीर की कमजोरी को दूर कर हमारे स्वास्थ्य को मजबूत बनाती है।

आरोग्यवर्धिनी वटी एक तरह का केमिकल है, जिसके सेवन से हमारे शरीर को कई फायदे होते हैं। लेकिन इसका सेवन करने से पहले इसे हमेशा डॉक्टर की देखरेख में और सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

Arogyavardhini Vati Uses & Benefits

आरोग्यवर्धिनी वटी के निम्नलिखित उपयोग और लाभ नियमित रूप से लेने हैं-

  • पाचन शक्ति बढ़ाने में फायदेमंद
  • आवश्यक धातुओं को संतुलित करने में लाभकारी
  • एनीमिया की रोकथाम
  • सूजन से राहत
  • कुष्ठ रोग के उपचार में सहायक
  • त्वचा की क्षति को दूर करें
  • भूख बढ़ाना
  • उच्च गुणवत्ता से भरपूर
  • मोटापा कम करने में फायदेमंद
  • पीलिया का इलाज
  • सीने में जकड़न दूर करने के लिए
  • श्वसन दर में वृद्धि
  • पेशाब की परेशानी दूर करने में
  • त्वरित विषहरण
  • शौच में सहायक
  • जिगर की रक्षा करें
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं
  • सभी प्रकार के संक्रमण

Arogyavardhini Vati Side Effects

  • लाभ की तुलना में आरोग्यवर्धिनी वटी के नुकसान नगण्य हैं।
  • फिर भी, इसे लेने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, यानी इसे भी उनकी देखरेख में ही लेना चाहिए।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं, जलन, मोह, त्रिता और पित्त के रोगियों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

Arogyavardhini Vati Doses

  • आरोग्यवर्धिनी वटी की खुराक से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक या विशेषज्ञ से लें।
  • इस संबंध में मरीज को डॉक्टर को अपने स्वास्थ्य से जुड़ी पूरी जानकारी देनी चाहिए। इससे इलाज में बेहतर सुधार होता है।
  • सामान्य व्यक्तियों के लिए, दिन में दो बार 250-500mg की खुराक सुरक्षित है।
  • हमेशा सुविधा के अनुसार खुराक बढ़ाने या घटाने से बचें।
  • इसकी खुराक बच्चों में देने से लाभ होता है। इस विषय में खुराक या अन्य जानकारी बाल रोग विशेषज्ञ पर आधारित होनी चाहिए।
  • इसका सेवन बिना किसी हिचकिचाहट के 4-6 महीने की लंबी अवधि तक किया जा सकता है।
  • आयुर्वेदिक स्टोर से लेने के बाद इस पर बताए गए निर्देशों के अनुसार ही इसकी खुराक लें।
  • गलत खुराक लेने के बाद गलती को ठीक करने के लिए ऊपर और ऊपर दूसरी खुराक न लें। कुछ समय अंतराल आवश्यक है।
  • यदि अधिक मात्रा में देखा जाता है, तो जितनी जल्दी हो सके खुराक को बंद कर दें और चिकित्सा की तलाश करें।
  • यदि एक खुराक छूट जाती है, तो निर्धारित आरोग्यवर्धिनी वटी जल्द से जल्द लें। अगर अगली खुराक आरोग्यवर्धिनी वटी के करीब है, तो छूटी हुई खुराक न लें।

आरोग्यवर्धिनी वटी कैसे काम करती है ?

  • दवा में मौजूद बेहतरीन तत्वों का समावेश इसे एक अच्छी दवा बनाता है। रक्त में मौजूद अनेक अशुद्धियों के कारण अनेक रोग उत्पन्न हो जाते हैं, जिन्हें यह औषधि दूर कर स्वस्थ स्वास्थ्य को बनाए रखती है।
  • यह दवा यूरिनरी ट्रैक्ट में ब्लॉकेज और सूजन को दूर करने में भी मददगार है। इसके अलावा यह दवा खराब पाचन के कारण हुए आंतों के नुकसान की भरपाई भी करती है।
  • शरीर का वजन अनियमित रूप से बढ़ने की स्थिति में यह दवा अनावश्यक चर्बी को नष्ट कर वजन घटाने का काम करती है।

Arogyavardhini Vati Price

आरोग्यवर्धिनी वटी आपको किसी भी दवा या हकीमी की दुकान पर आसानी से मिल जाएगी। इसके अलावा आप इसे पतंजलि द्वारा निर्मित पतंजलि स्टोर से भी खरीद सकते हैं और कोई भी इसे आसानी से खरीद सकता है।

एक डिब्बे की कीमत 86 रुपये है, जिसमें 40 गलियां हैं। इसके अलावा आप इसे किसी भी ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं। पतंजलि और बैद्यनाथ के अलावा और भी कई कंपनियां आरोग्यवर्धिनी वटी बनाती हैं।

हम उम्मीद करते है की आपको आरोग्यवर्धिनी वटी के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल गयी होगी, इस दवाई का उपयोग से पहले अपने निजी डॉक्टर से सलाह-मशवरा जरुर ले।

अन्य दवाइयों के बारे में

Nor Tz TabletLecope M Tablet
Omnacortil 5 TabletColinol Tablet
Wysolone TabletMontek FX Tablet
Ramipril TabletHimalaya Pilex Tablet
Cefuroxime Axetil TabletAlprax 0.25 Tablet

आरोग्यवर्धिनी वटी के उपयोग, नुक्सान, फायदे” आपके लिए उपयोगी होगा, इसके साथ-साथ आपको आरोग्यवर्धिनी वटी के बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो हमे कमेंट में बता सकते है।

x